बिना दर्शकों के भी ऍफ़.सी. स्चाल्के के खिलाफ मैच तीव्र होने वाला है: रेना

बोरुस्सिया डॉर्टमुंड के स्टार खिलाड़ी जियोवान्नी रेना ने कहा है कि स्चाल्के के खिलाफ बुंदेसलिगा में उनका मैच काफी तीव्र होने वाला है, भले ही यह मैच बंद दरवाजों के पीछे ही क्यों ना खेला जा रहा हो|

रेना का यह बयान तब आया है जब बुंदेसलिगा अपना सीजन 16 मई से फिर से शुरू करने जा रहा है | प्रतियोगिता को 2 महीने के लिए कोरोना वायरस के चलते, स्थगित कर दिया गया था|

“मुझे लगता है मैं यह बात पूरी टीम की तरफ से कह सकता हूं कि हम सभी खेलने के लिए बहुत ही जोश में है| मैंने  कभी डर्बी लाइव  नहीं देखा है और ना ही इसमें खेला हूं तो मैं बहुत ही उत्साहित हूं|” goal.com ने रैना का यह ब्यान  अपने अधिकारिक यूट्यूब चैनल के माध्यम से ज़ारी किया|

“वह बहुत ही अच्छी टीम है मगर मुझे लगता है कि जैसा हम खेल सकते हैं, अगर वैसा खेले तो हम बिना किसी मुश्किल के जीत सकते हैं| ये बहुत ही तीव्र गेम होगा चाहे फैंस मौजूद हों  या ना|”

जर्मन फुटबॉल एसोसिएशन ने 7 मई को इस बात की पुष्टि की थी कि घरेलू प्रतियोगिता बुंदेसलिगा 16 मई को फिर से शुरू हो जाएगी| 16 मई को 6 मैच खेले जाएंगे और बोरुस्सिया डॉर्टमुंड स्चाल्के का सामना करेगी| इस साल श्रंखला का  फाइनल मैच 27 या 28 जून को खेला जाना निश्चित किया गया है|ये  फैसला जर्मन फुटबॉल एसोसिएशन की तरफ से लिया गया है, जब जर्मन सरकार ने उनको बुंदेसलिगा लीग फिर से शुरू करने पर हरी झंडी दी |

बहरहाल, टूर्नामेंट को यह निर्देश दिए गए हैं कि वह कोरोना वायरस की वजह से बनाये गए सभी नियमों का पालन करें और स्टेडियम में भी मेडिकल टीमों के लिए जरूरी जैविक मशीनों को लगाया जाए| मैच को बिना दर्शकों के खेला जाएगा और उस पर कड़ी पाबंदियां भी लगाई जाएंगी जो कि कोरोना वायरस के लिए जरूरी हैं| सभी प्लेयरओं, टीमों और सारे स्टाफ की कोरोना जांच की जाएगी|

स्टेडियम में एक साथ ज्यादा से ज्यादा 330 लोग मौजूद रह सकते हैं जिसमें सिक्योरिटी, क्लब के एम्पलाई, टीमें और बाकी स्टाफ शामिल रहेगा| इसी के चलते खिलाड़ियों को भी क्वॉरेंटाइन में रखा जाएगा जब तक लीग खत्म नहीं हो जाती|

स्पेन, इटली और यूके भी अपनी घरेलू फुटबाल प्रतियोगिताओं को जल्द शुरू करने की सोच रहे हैं|इस बात का अंदेशा लगाया जा रहा है कि प्रीमियर लीग, ला लीगा और सिरिए को जून में शुरू किया जा सकता है

लीग के  फिर से शुरू हो जाने पर टीमों के लिए कुछ आसानी हो इसलिए अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल एसोसिएशन बोर्ड आई.ऍफ़.ए.बी ने कोरोना वायरस को देखते हुए, इस बात को मंजूरी दी है कि प्रत्येक टीम 5 सब्सीट्यूट कर सकती है| प्रतियोगिताएं जो यां तो शुरू हो चुकी है यां फिर शुरू होने की सोच रही हैं और दिसंबर 31 2020 से पहले खत्म हो जाएंगी, उनके लिए आई.एफ.ए.बी ने फीफा के इस प्रस्ताव को मंजूरी दी है जिसके तहत हर टीम अपने खिलाड़ियों में पांच सब्सीट्यूट तक कर सकती हैं|

खेल खराब ना हो इसलिए हर टीम को सिर्फ 3 मौके ही दिए जाएंगे सब्सीट्यूट करने के लिए और सब्सीट्यूट हाफ टाइम में भी किया जा सकता है| फीफा ने अपने एक स्टेटमेंट में कहा फीफा के इस फैसले को लागू करना है या नहीं, यह फैसला घरेलू प्रतियोगिताओं को आयोजित करने वाले ऑर्गेनाइजर्स लेंगे| जबकि आई.एफ.ए.बी और फ़ीफ़ा यह बात बाद में तय करेगी कि इस  बदलाव को आगे बढ़ाना है या नहीं|

पूरी दुनिया में खेल जगत पर कोरोना वायरस की वजह से रोक लगी हुई है| घरेलू फुटबाल प्रतियोगिताएँ, फ्रांस और नीदरलैंड में, पहले ही कोरोना की वजह से रद्द हो चुकी हैं|

बुन्देस्लिगा को बंद दरवाजों के पीछे मिली मंजूरी

Leave a Reply

%d bloggers like this: