पिछले दो सालों मे अपनी गलतियों को सवीकारना सीखा : संजू सेमसन

कई मौकों पर होनहार  नज़र आने वाले संजू सेमसन ने अनेकों मौकों पर अपने  पर्दर्शन से निराश किया है मगर उच्च श्रेणी मे गिने जाने  वाले इस विकेटकीपर बल्लेबाज़ का कहना है की अब उन्होंने अपनी गलतियों को सवीकार करना सीख  लिया है| वो अपना आचरण भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जैसा शांत बनाना चाहते हैं|

25 साल के इस केरला के ख़िलाड़ी की चर्चा लगातार उच्च कोटि के खिलाडियों, जैसे कि राहुल द्रविड़ और गौतम गंभीर, द्वारा की जाती रही है| मगर सिर्फ 4 अंतर्राष्ट्रीय टी 20 के साथ वह इस चर्चा को अंतरराष्ट्रीय सफलता मे तब्दील नहीं कर पाये हैं|

Sanju Samson showcases India credentials again with fine knock in ...

Picture Credit :- Google

पीटीआई  से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि “मैंने अपना ज्यादा ध्यान उन चीजों पर लगाया है जिनमे मैं अच्छा हूँ और अपनी कमीयों  को अपनाना सीखा है| में अपनी टीम के लक्ष्य को प्राप्त करने  मे अपना योगदान देता हूँ और टीम  को रेखा के पार ले जाने की कोशिश करता हूँ| मैं बैटिंग  के दौरान अपनी भावनाओं को काबू करने की कोशिश करता हूँ एम. एस. धोनी की तरह|”

उन्होंने कुछ समय पहले भारतीय टी 20 टीम में वापसी करी और वह उनके लिए बहुत अच्छा तजुर्बा रहा|संजू ने बताया  कि”भारतीय टीम  का हिस्सा बनकर बहुत अच्छा लगा जो की विश्व की सबसे अच्छी टीमों  में से एक है| विराट और रोहित जेसे प्लेयर्स के साथ खेलना एक शानदार अनुभव रहा| न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ एक मैच के दौरान संजू को सुपर ओवर में बैटिंग करने के लिए भेजा गया जिस से उनका आतम्विश्वास बढ़ा|

पीटीआई से बातचीत के समय उन्होंने बताया की विराट और रोहित भाई जेसे प्लेयर्स की तरफ से विश्वास जताया जाना बहुत बड़ी बात है और उन्हें बहुत ख़ुशी महसूस हुई| सेमसन ने कहा की जब टीम आपको अहम मौके पर बैटिंग के लिए भेजती है और आपमें मैच को  जिताने का विश्वास जताती है  तो बहुत बढ़िया आभास होता है|

उन्होंने थोड़े मजाकिया अंदाज़ मे बताया  की वो स्टीव स्मिथ को ‘चाचू’ बुलाते हैं जबसे ब्रैड हौज ने स्टीव को  एक बार इस नाम से बुलाया था| संजू ने बताया की उनके ‘चाचू’ स्टीव के साथ बहुत अच्छे संबंध हैं और उनकी कप्तानी मे खेलना बहुत मनोरंजक है| स्टीव क्रिकेट जगत के सबसे तेज दिमागों मे से एक हैं|

जब पीटीआई द्वारा पूछा  गया की इस नाम के पीछे की कहानी क्या है तो संजू ने बताया कि ” पहले हौज स्टीव को ‘चाचू’ बुलाते थे और जब वो गये तो मैंने उन्हें ‘चाचू’ बुलाना शुरू कर  दिया और स्मिथ भी  मुझे ‘चाचू’ बुलाते हैं| हम दोनों को इसमें बड़ा मज़ा  आता है|”

धोनी को अपना आदर्श मानने वाले संजू को जोस बटलर को खेलते देखना पसंद है और वह कैसे  गेम की तयारी करते हैं इसपर संजू ख़ास ध्यान देते हैं| संजू ने बताया की वो बटलर के खेल का निरिक्षण करते हैं क्यूंकि वो भी विकेटकीपर बैट्समैन हैं| जोस हमेशा अपने खेल को निखारने मे लगे  रहते हैं| वह कभी खाली नही बैठते हमेशा नेट्स मे बैटिंग करते, कीपिंग की तयारी करते या मैदान मे दौड़ते दिखाई देते हैं|

Leave a Reply

%d bloggers like this: