छेत्री ने पूछा ‘इंसान खुद को विकसित प्रजाति किस आधार पर कह सकते हैं?”

27 मई को हुई हथिनी की मौत पर दुख जताते हुए भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने पूछा कि इंसान खुदको किस आधार पर विकसित प्रजाति के सकता है?

मल्लापुरम में एक गर्भवती हथिनी को कुछ लोगों द्वारा बमों से भरा अनानास खाने को दिया गया। जानवर इंसान के छल कपट से अनजान हैं और इंसानों पर जल्द भरोसा करने की गलती कर लेते हैं। ऐसी ही गलती उस हथिनी ने की और इंसानों द्वारा दिया गया पटाखों भरा अनानस कहा लिया।

जब उसने वह अनानस अपने मुंह में रखा तो वह फ़ट गया और इससे हथिनी का जबड़ा घायल हो गया। वह हथिनी अपना दर्द कम करने के लिए जाकर पानी में खड़ी हो गयी जहां खड़े खड़े उसकी मौत हो गयी।

सुनील ने ट्वीट किया कि ” वह एक शांत , गर्भवती हथिनी थी जो किसी को कुछ नहीं कह रही थी। जिन लोगों ने उस हथिनी के साथ ऐसा किया है वह राक्षस से कम नहीं हैं। मैं दिल से उम्मीद करता हूँ कि उनको उनके किये की सज़ा चुकानी पड़े। क्या कोई मुझे याद दिलाएगा की इंसान खुदको विकसित प्रजाति क्यों कहता है?”

मन्नारकद्द फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर ने बताया कि अज्ञात लोगों के खिलाफ वाइल्डलाइफ प्रोटेक्शन एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: