प्रदेश में इस कदर अराजकता है कि कांग्रेस विधायक भी धरना दे रहे हैं : राकेश सिंह

 

सरकार की दमनकारी नीतियों के खिलाफ 24 जनवरी को पार्टी सड़क पर उतरेगी

भोपाल।   प्रदेश में अराजकता इस कदर है कि कांग्रेस के विधायक भी मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर अपनी नाराजी जता रहे हैं। विधायक मुन्नालाल गोयल को सरकार के इस रवैये के खिलाफ विधानसभा सत्र का बहिष्कार करने पर मजबूर होना पड़ा। प्रदेश में किसान और जनता परेशान है, लेकिन सरकार के मंत्री नेताओं की जी हुजूरी में लगे हैं। विकास की ओर उनका ध्यान नहीं है। अगर जनता प्रदेश सरकार से विकास की अपेक्षा करती है तो वह गलत है, क्योंकि चमचा संस्कृति होने के कारण इस सरकार से सुशासन देने की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह ने प्रदेश कार्यालय में मीडिया से चर्चा करते हुए कही।
माफिया के नाम पर की जा रही भेदभावपूर्ण कार्यवाही से राज्यपाल को अवगत करायेंगे
उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार दमनकारी नीतियों के साथ प्रदेश को चलाने की कोशिश कर रही है। कुछ अंतराल में नया शिगूफा छोड़ा जाता है, ताकि जनता का ध्यान बुनियादी बातों से हट जाए। इसलिए माफिया उन्मूलन और अतिक्रमण की शुरूआत की। सरकार ऐसे व्यापारी और व्यवसायियों को निशाना बना रही है, जो उसकी सुविधा के अनुसार नहीं चल रहे हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं को चिन्हित कर उन पर अत्याचार कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार जिस तरीके से दमनकारी नीतियों के साथ कार्यवाही कर रही है उसके विरोध में 24 जनवरी को भारतीय जनता पार्टी सड़कों पर उतरेगी। कांग्रेस के सभी नेताओं ने जहां अतिक्रमण किए हैं, उनकी सूची एकत्रित कर राज्यपाल को सौंपी जायेगी।
जनता की चीखें प्रदेश सरकार के कानों तक नहीं पहुंच रही
राकेश सिंह ने कहा कि प्रदेश में अराजक सरकार है और अराजक नेतृत्व है। अराजक इसलिए कि प्रदेश की जनता की चीखें भी बहरी सरकार के कानों तक नहीं पहुंच रही है। उन्होंने कहा कि किसानों को धान खरीदी का पैसा नहीं मिला और उनकी पूरी फसल खेत में पड़े-पड़े ही सड़ गयी। ओले से प्रभावित हुई फसलों को लेकर भी कांग्रेस सरकार के मन में कोई योजना नहीं है। सरकार दिशाहीन है, उसका कोई विजन नहीं है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस सरकार की गलत नीतियों का हर कदम विरोध करेगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: