PCBA ने ऑयल इंडिया के कुएं को बंद करने के अपने आदेश को वापस लिया

 

असम प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ( पीसीबीए ) ने सोमवार को ऑयल इंडिया लि. (OIL) से इंडियन ऑयल का असम के (Baghjan oil field) में सभी कार्य बंद करने के आदेश को यानी क्लोजर नोटिस को वापस ले लिया है। जिसमे तेल इंडिया लिमिटेड (OIL) को तिनसुकिया जिले में बागान ऑयलफील्ड के सभी प्रतिष्ठानों के सभी उत्पादन और ड्रिलिंग कार्यों को “बंद” करने का निर्देश दिया था। इस तेल फील्ड में 9 जून को आग लगने की घटना के बाद नोटिस दिया गया था.

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के इस मामले में हस्तक्षेप के बाद पीसीबीए ने अपने आदेश को वापस ले लिया है। असम के मुख्यंत्री ने पीसबीए के आदेश पर अप्रसन्नता जताई थी।

इससे पहले, ऑयल इंडिया ने रविवार को कहा था कि अगर पीसीबीए ने अपने आदेश को वापस नहीं लिया तो वह उसके खिलाफ गुवाहाटी हाई कोर्ट जाएगा।

अब असम प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने क्लोजर नोटिस वापस ले ली है लेकिन इसको कुछ शर्तों के तहत ऑयल इंडिया लिमिटेड द्वारा प्रस्तुत हलफनामे के अनुसरण में वापस  लिया गया है।

असम प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने अपना आदेश रद्द करते हुए कंपनी से 15 दिनों के भीतर समयबद्ध तरीके से बाघजान तेल फील्ड में आग बुझाने को कहा है और पर्यावरण में हुए दुष्प्रभाव को कम करने के लिये पर्यावरण प्रबंधन योजना के बारे में पूरा ब्योरा देने के लिए कहा है। यानी उसे 15 दिनों के भीतर एक विस्तृत समयबद्ध पर्यावरण प्रबंधन योजना प्रस्तुत करनी होगी और बागान ऑयल फील्ड में आग बुझाने के लिए तदनुसार कार्य करना होगा।

हम आपको बता दें कि बता दें कि असम में स्थित बागजान तेल कुआं में 9 जून को भीषण आग लग गई थीं। कुएं से 14 दिन तक गैस का रिसाव होता रहा था। ऑयल इंडिया लिमिटेड के तेल कुएं में लगी आग इतनी भयंकर थी कि उसकी लपटों को 30 किलोमीटर से भी अधिक दूरी से देखा जा सकती था। इस घटना से असम के आसपास की जैव विविधता को बहुत नुकसान हुआ था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: