महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने कहा: टिड्डी दल के हमले से बचना है तो ढोल पीटे और पटाखे फोड़े

किसानों से बात करते हुए, महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा: “जब भी फसलों पर टिड्डी दल का हमला हो, तो ग्रामीणों को सचेत हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पटाखे फोड़ने, टायर जलाने के धुएं या ड्रम बजाने से टिड्डियों के हमलों से बचा जा सकता है।”

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने फसलों को टिड्डियों  से बचाने के लिए लोगों से पटाखे फोड़ने और ढोल पीटने को कहा है। मंत्री ने अपने निर्वाचन क्षेत्र में टिड्डी हमले की स्थिति का जायजा भी लिया।

महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने कहा “जब भी टिड्डी दल का खेतों पर हमला होता है, तो ग्रामीणों को तुरंत सतर्क हो जाना चाहिए। देशमुख ने कहा कि पटाखे फोड़ने, टायर जलाने के धुएं या ड्रम बजाने से टिड्डियों के हमलों से बचा जा सकता है।”

इससे पहले, महाराष्ट्र के कृषि मंत्री दादा भूस ने बताया था कि कृषि विभाग द्वारा राज्य में लगभग 50 प्रतिशत टिड्डियों को मार डाला गया है। कृषि मंत्री ने कहा था कि “कृषि विभाग द्वारा महाराष्ट्र में लगभग 50 प्रतिशत टिड्डियों के झुंड को मार दिया गया है। फायर ब्रिगेड वाहनों का उपयोग कीटनाशकों के छिड़काव के लिए किया जा रहा है। हम प्रभावित क्षेत्रों में किसानों को मुफ्त में रसायन / कीटनाशक प्रदान कर रहे हैं।

IMG 20200531 130117

पाकिस्तान के रास्ते भारत में आए टिड्डी दल ने राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और मध्य प्रदेश में प्रवेश कर लिया है।टिड्डी दल से कपास की फसलों और सब्जियों को बड़े नुकसान की आशंका है, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि टिड्डी दल के हमले से राजस्थान सबसे अधिक प्रभावित राज्य है।

हम आपको बता दें कि रेगिस्तानी टिड्डा, टिड्डे की एक प्रजाति है। ये अपने रास्ते में जो कुछ भी फसल आती है उसको ख़तम करने के लिए जाने जाते हैं, जिससे खाद्य आपूर्ति और लाखों लोगों की आजीविका के लिए एक अभूतपूर्व खतरा पैदा हो जाता है।

 

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: