अंधविश्वास ने ली एक की जान, पुजारी बोला माता आयी और कह गयी

खबर ओडिशा से है जहा एक ७५ साल के पंडित ने इंसानी बल्ली दे दी। बताया जा रहा की पंडित ने ऐसा इस लिए किया क्युकी उसके सपने में माताजी आयी और कोरोना वायरस ख़तम करने के लिए उससे इंसानी बल्ली देने को कहा।

यह हादसा बँधाहूदा के एक मंदिर में हुआ जो ओडिशा के कुट्टक में है।

मुजरिम पुजारी जिसका नाम संसारी ओझा है जो ७५ साल का है वहॉ बंधा माँ बूढ़ा ब्राह्मणी देइ मंदिर में पुजारी था वहॉ खुद पुलिस के पास आगया और आत्मसमर्पण कर दिया यह जुर्म करने के बाद।
आपको बता दे की जिस इंसान का खून हुआ है उस्का नाम सरोज कुमार प्रधान है। पुजारी के मुताबिक बल्ली देते समय कुछ कहा-सुनी हो गयी।

जब पूछ ताछ की गयी तब पुजारी ने बताया की उससे भगवन ने उसस्के सपने में आ के उससे “आर्डर” दिया और कहा की अगर कोरोना वायरस इस दुनिया से मिटाना है तो इंसानी बल्ली चढ़ानी पड़ेग।
पुलिस ने उसका हतियार जो एक कुहाड़ी थी उससे मुकाये वारदात से बरामत किया है।

गाँव वालो ने बताया है की पुजारी ओझा और सरोज के बीच काफी दिनों से लड़ाई चल रही थी वो भी एक आम के बागान के पीछे जो गाँव के थोड़ा बाहर है।

पुलिस डी ई जी सेंट्रल रेंज आशीष कुमार सिंह ने बताया की जांच अभी चल रही है, घटना के समय अभियुक्त नशे में था और जब उससे होश आया तब उसने आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस ने यह भी कहा की पडिंत की दिमागी हालत ठीक नहीं है और उससे कई बार चेतावनी भी दी जा चुकी है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: