पूरे उत्तर भारत में गर्मी का सितम, दिल्ली में पारा 45 पार, राजस्थान सबसे गर्म

भारत में कोरोना रुकने का नाम नहीं ले रहा वहीं दूसरी ओर उत्तर भारत में गर्मी का सितम भी तेज़ी से बढ़ रहा है। उत्तर भारत में लोग गर्मी से बेहाल हो रहे हैं। मौसम विभाग ने शुक्रवार को दिल्ली में अधिकतम तापमान दर्ज किया। दिल्ली के पालम में अधिकतम तापमान 45.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि लोधी रोड पर तापमान 44.4 डिग्री सेल्सियस था। भारत के राजस्थान में सबसे अधिकतम तापमान 46.2 दर्ज किया गया है।

दिल्ली में IMD के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि हीटवेव 23 से 25 मई के बीच उत्तर-पश्चिम भारत में शुष्क और उत्तर-पश्चिमी हवाओं के कारण जारी रहने की संभावना है। हीट वेव तब होता है जब मैदानी इलाकों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस और पहाड़ी क्षेत्रों में 30 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है।

उत्तर भारत के अन्य हिस्सों में भी पारा तेजी से बढ़ा है। अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, “हम 27 मई तक उत्तर पश्चिम भारत में गर्म मौसम से राहत की उम्मीद नहीं कर सकते।” “अधिकतम तापमान 42 से 45 डिग्री सेल्सियस तक होगा। 29 मई के आसपास बादल छाए रहने की संभावना है। शुष्क गर्म उत्तर- पश्चिमी हवाएँ और साफ़ आसमान से साफ है कि अधिकतम तापमान बढ़ेगा।

भारत में शुक्रवार को राजस्थान में सबसे अधिक अधिकतम तापमान 46.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आईएमडी ने कहा कि अगले पांच दिनों के दौरान राजस्थान और पश्चिम मध्य प्रदेश में हीटवेव की स्थिति की संभावना है। मौसम विभाग ने कहा कि पश्चिम राजस्थान में शनिवार को भीषण गर्मी पड़ सकती है।

मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश में शनिवार और रविवार को हीटवेव की चेतावनी जारी की है। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के झांसी में सबसे अधिक तापमान 46.1 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज़ किया गया जो सामान्य से 3.1 डिग्री सेल्सियस अधिक था। आगरा में 45.4, प्रयागराज में 45, कानपुर में 44.5,  और अलीगढ़ और बांदा में 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: