फंसे हुए प्रवासी मजदूर दिल्ली से पैदल ही अपने घर की ओर जा रहे हैं

सार्वजनिक परिवहन की कमी के कारण कई किलोमीटर तक चलने के बाद, प्रवासी श्रमिक शुक्रवार को दिल्ली-गाजीपुर सीमा पर पहुंच गए हैं। वे उत्तर प्रदेश में अपने अपने घरों तक पहुंचने की मंज़िल के बेहद करीब आ गए हैं।

उत्तर प्रदेश के हरदोई की रहने वाली रीता ने कहा कि परिवहन का कोई साधन उपलब्ध नहीं है इसलिए वह अपने बच्चों के साथ यहां तक पहुंचीं।

उन्होंने कहा, “मेरा घर हरदोई में है। मेरे मकान मालिक ने मुझे बाहर निकाल दिया है क्योंकि मैं किराया नहीं दे पा रही थी। मेरे बच्चे छोटे हैं और घर छोड़ने के लिए मेरे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है।”

परिवहन के कुछ विकल्प उपलब्ध होने के कारण, देश के कुछ क्षेत्रों में हजारों लोग, ज्यादातर प्रवासी मजदूरों ने तालाबंदी के दौरान अपने अपने घर की ओर चलने का सहारा लिया है।

आप को बता दें कि सरकार ने  कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए 25 मार्च से देश लॉकडाउन की स्थिति में है।

(ANI)

Leave a Reply

%d bloggers like this: