पूर्वी लद्दाख में भारत चीन सीमा पर हिंसक झड़प में भारत के कुल 20 जवान शहीद

नई, दिल्ली, भारत: सोमवार की रात और मंगलवार को पूर्वी लद्दाख के गलवां वैली में भारत और चीन के सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हो गई। इसमें दोनों पक्षों के जवान जख्मी हुए। इसको देखते हुए हिमाचल की सीमाओं पर अलर्ट जारी कर दिया गया है।

भारतीय सेना ने जवानों के शहादत की दी जानकारी

भारतीय सेना ने बताया कि इस झड़प में भारत के कुल 20 जवान शहीद हुए हैं जिसमें 16 बिहार के कमांडिंग ऑफिसर संतोष बाबू भी थे। सूत्रों का कहना है कि इस संख्या में इजाफा भी हो सकता है। इसके पहले मिली जानकारी के अनुसार तीन जवानों की शहादत की खबर थी। बाकी के 17 जवान गंभीर रूप से घायल होने के बाद शहीद हो गए।

ताजा जानकारी के अनुसार दोनों पक्षों की सेनाएं विघटित हो चुकी हैं।

दरअसल, ये झड़प तब हुई जब भारतीय सेना के जवान 16 बिहार कमांडिंग ऑफिसर कर्नल संतोष चीनी सेना के पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पी एल ए) के जवानों को सीमा से पीछे जाने को कह रहे थे। जून 6 को कमांडर स्तर पर हुई वार्ता के अनुसार चीनी सेना को सीमा से पीछे हटना था।

हिमाचल की सीमाओं पर हाई अलर्ट

इस घटना को देखते हुए हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले एवं लाहुल स्पीति घाटी में लोगों की सुरक्षा को लेकर सलाह जारी किया गया है। दोनों इलाकों के स्थानीय लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के आदेश दिए गए हैं। हालांकि, इन क्षेत्रों की सीमाओं पर सुरक्षा का जिम्मा आईटीबीपी के हवाले है, पर हिमाचल पुलिस ने भी चौकसी बढ़ा दी है। दोनों जिलों के सभी सीमाओं पर हाई अलर्ट जारी किया गया है।

चीन के विदेश मंत्री ने की टिप्पणी

सोमवार की रात को हुई झड़प को लेकर चीन के विदेश मंत्रालय ने ग्लोबल टाइम्स के हवाले से कहा है कि भारतीय सेना के जवानों ने अवैध रूप से सीमा पार करने की कोशिश की और चीनी सेना को उकसाने के लिए हमले भी किया। ऐसा करके उन्होंने दोनों पक्षों के बीच बनी सहमति को भंग किया।

santosh babu7085629388445718213.

Artwork by :- Shivesh Pandey, Graphic Designer, TheHindi Mail

Leave a Reply

%d bloggers like this: