सुप्रीम कोर्ट करेगा आज चार याचिकाओं पर सुनवाई, जगन्नाथ मंदिर के रथ यात्रा पर फैसले में बदलाव को लेकर दायर की गई है याचिका

नई दिल्ली: सोमवार की सुबह सुप्रीम कोर्ट चार याचिकाओं पर सुनवाई करेगा। ये याचिकाएं उच्च न्यायालय के पुरी में होने वाले रथ यात्रा पर 18 जून के आदेश में बदलाव को लेकर दायर की गईं हैं।

शीर्ष अदालत ने 18 जून को आदेश दिया था कि जगन्नाथ मंदिर के वार्षिक रथ यात्रा को इस साल स्थगित किया जाए। कोरोनावायरस महामारी के बीच किसी भी प्रकार के कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाए जिसमें भीड़ इकट्ठी हो सकती है। एक जज की बेंच सभी याचिकाओं की सुनवाई करेगा।
अपनी पिछली सुनवाई में मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे की अध्यक्षता वाले तीन जजों के बेंच ने पुरी में होने वाले रथ यात्रा को रोकने का आदेश दिया था। उनका कहना था कि इस महामारी के समय ऐसे कार्यक्रम नहीं हो सकते हैं।

उच्च न्यायालय ने कहा, “भगवान जगन्नाथ हमें माफ कर देंगे अगर हम इस साल रथ यात्रा रोक दे तो…सार्वजनिक स्वास्थ्य और नागरिकों की सुरक्षा के हित में इस साल रथ यात्रा की अनुमति नहीं दी जा सकती है।”

ओडिशा विकास परिषद के नाम से एक एनजीओ के द्वारा एक याचिका दाखिल की गई थी। जिसमें कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए इस वार्षिक रथ का यात्रा को अनुमति नहीं देने की बात कही गई थी। इसी पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था।
इस फैसले के बाद श्री जगन्नाथ मंदिर प्रबंध समिति के अध्यक्ष दिब्यासिंघा देब ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को लिखकर निवेदन किया कि वो उचित कदम उठाए। राज्य सरकार उच्च न्यायालय तक पहुंचे और उनके 18 जून के फैसले में बदलाव करने की अपील करे और रथ का यात्रा की अनुमति प्राप्त करे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: