COVID-19 के निर्देशों के तहत श्रीनगर के डल झील में चल रहा सफाई आभियान, मशीनों की बजाय इस बार मैनुअल सफाई

Pic Credit: ANI

श्रीनगर, जम्मू कश्मीर: बढ़ते कोरोनावायरस संक्रमण के बीच सरकारें अर्थव्यवस्था को ठप होने से बचाने के लिए कई तरह के प्रयास कर रहीं हैं। इसी दिशा में काम करते हुए श्रीनगर के डल झील की सफाई कराई जा रही है, लेकिन इस बार इसके लिए मशीनों का इस्तमाल ना करके मैनुअल सफाई कराई जा रही है।

झील और जलमार्ग विकास प्राधिकरण ने COVID-19 के कारण देशभर में लगे लॉक डाउन के नए नियमों को देखते हुए डल झील की सफाई के लिए बहुत बड़ा अभियान शुरू किया है। इस मैनुअल सफाई की वजह से वहां के हजारों निवासियों को रोजगार मिलेगा।

मशीनों से पिछले कई दफा सफाई कराने के बाद अब LAWDA ने झील से लिली पैड्स हटाने के लिए इस बार मानव बल पर निर्भरता दिखाई है।इसलिए इस मिशन का उद्देश्य जल श्रोत में मौजूद लिली पैड, क्रीपर्स, शैवाल, पानी के पौधे और अन्य अपशिष्ट पदार्थों जैसे खरपतवारों को साफ़ करना है।

LAWDA के अधिकारी शबीर हुसैन ने ANI से बात करते हुए कहा, “हम रोज करीब एक हजार मजदूरों को डल झील और निगीन झील की सफाई के काम में लगा रहे हैं। वे जड़ से खरपवारों को निकलते हैं जबकि मशीनें बस उपरी हिस्से को काटती थीं।”

डल झील देश के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। हर साल इसे देखने दुनिया भर से बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं और उस इलाके की अर्थवयवस्था में इसका बहुत बड़ा योगदान होता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: