कोरोना के चलते विभिन्न शहरों में फ़सें लोगों के लिए चलाई जाएँगी स्पेशल ट्रेनें

दिल्ली मे लॉकडाउन की वजह से फंसे उत्तराखंड के लोगों के लिए एक विशेष ट्रेन चलाने का फैसला रेल मंत्री पियूष गोयल द्वारा लिया गया है| इससे पहले मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत भी इसके लिए केंद्रीय मंत्री से आग्रह कर चुके हैं|

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रेल मंत्री पियूष गोयल का उनका आग्रह स्वीकारने के लिए धन्यवाद् किया| उन्होंने कहा के करीब 40,000 लोग दिल्ली से वापस अपने राज्य आना चाहते हैं|

रेल मंत्री ने यह खास दर्ख्वास्त मान ली है और कहा है की राज्य सरकार  इसके लिए अपनी योजना तैयार करे और उनको उसके अनुसार रेल सेवा मुहैया  करवाई जाएगी| रेल मंत्री ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह के, ट्रेन को 2 जगह पर रोके जाने के, निवेदन को भी मान लिया है|

मुख्यमंत्री ने कहा है की वो अपनी तरफ से हर मुमकिन प्रयास कर रहे हैं ताकि प्रवासीओं को वापस अपने राज्य लाया जा सके| उनके आने जाने के रेल और बसों का खर्चा भी राज्य सरकार उठाएगी|

वहीं गोवा में फ़से हुए लोगों के लिए भी गोवा से ऊना स्पेशल ट्रेन सेवा १३ ,१४ मई को शुरू की जाएगी|यह ब्यान हिमाचल सरकार की तरफ से जारी किया गया है|

केंद्र सरकार ने राज्य सरकार के निवेदन पर यह विशेष ट्रेन चलाने को मंजूरी दी है|ये ट्रेन थिविम/मार्गो/करमाली से ऊना के बीच  चलाई जाएगी|ये बात मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने शिमला से बात करते हुए गोवा के विभिन्न क्षेत्रों मे फंसे लोगों से विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के दौरान कही|

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने  केंद्रीय मंत्री से गोवा से ऊना के बीच विशेष ट्रेन चलाने का आग्रह  किया है ताकि वहां फंसे हुए हिमाचलियों को आसानी से अपने राज्य वापस लाया जा सके|उन्होंने बताया की रेल मंत्री ने आग्रह स्वीकार कर लिया गया है और १३ १४ मई को ये ट्रेन चलेगी|

वहां करीब 1204 लोगों के फंसे होने की सम्भावना है| वहां फंसे लोगों मे से 398 मण्डी, 246 कुल्लू, 241 काँगड़ा, 105 चंबा, 70 शिमला और 43 सोलन ज़िले से हैं| घरवापसी के बाद उन्हें कुछ दिन क्वारंटाइन मे रहना होगा|

Leave a Reply

%d bloggers like this: