आयोजकों ने गणेश जी की 66 फ़ीट ऊँची प्रतिमा की जगह 1 फुट ऊँची प्रतिमा लगाने का निर्णय लिया

हैदराबाद की खैरताबाद गणेश उत्सव कमेटी, जो कि हर साल विनायक चतुर्थी के दौरान सबसे ऊंची गणेश जी की मूर्ति लगाए जाने के लिए प्रसिद्ध है, उन्होंने पहले  इस साल गणेश जी की 66 फीट ऊंची मूर्ति लगाने का सोचा था लेकिन करोना के चलते उन्होंने मूर्ति का साइज 1 फीट तक घटाने का फ़ैसला लिया है| खैरताबाद गणेश मूर्ति को देश की सबसे बड़ी मूर्तियों में से एक गिना जाता है|

इसी कमेटी ने पिछले साल 2019 में 64 फीट ऊंची मूर्ति की स्थापना की थी जिसने पूरे देश के श्रद्धालुओं को आकर्षित किया था| ऐएनआई से बात करते हुए खैरताबाद गणेश उत्सव कमेटी के संस्थापक और चेयरमैन, सुदर्शन, ने बताया “इस साल पहले हमने 66 फीट ऊंची मूर्ति लगाने का सोचा था और 18 मई को भूमि पूजा और छठ पूजा करने का सोचा था लेकिन लॉकडाउन के चलते यह नहीं हो सकता| हर साल करीब 200 माहिर कारीगर इस मूर्ति पर लगातार दो महीने के लिए काम करते थे ताकि सबसे ऊंची गणेश मूर्ति को बनाया जा सके लेकिन इस साल लॉकडाउन की वजह से और राज्यों से माहिर कारीगरों का आना मुश्किल है| यह देखने के बाद हमने सोचा है कि इस साल सिर्फ 1 फीट ऊंची गणेश जी की मूर्ति को स्थापित किया जाएगा और पूजा की जाएगी|

सुदर्शन ने यह आग्रह किया कि जनता कोविड-19 के खतरे को ध्यान में रखकर इस उत्सव को अपने घरों में ही मनाए| “हम लोगों से यह अपील करते हैं कि वह अपने घर पर 1 फीट ऊंची मिट्टी की गणेश जी की मूर्ति की स्थापना करें और अपने घर पर ही पानी की बाल्टी में विसर्जन कर दें| लोगों को  भगवान गणेश से यह प्रार्थना करनी चाहिए कि वह जल्द से जल्द करोना इन्फेक्शन को भारत तथा पूरे दुनिया से खत्म करें|”

Leave a Reply

%d bloggers like this: