बेंगलुरु हवाई अड्डे पर यू.वी. किरणों से की जाएगी बैगों की जांच

बेंगलुरु के केम्पगौड़ा एयरपोर्ट पर यात्रियों की सुरक्षा के लिए पैराबेंगनी किरणों से बैगों की जांच की जाएगी। बेंगलुरु एयरपोर्ट के कर्मियों ने बताया कि 2 यू.वी. सुरंगें एयरपोर्ट के कोनों वाले एरिया में होंगी जहां से इस्तेमाल के बाद ट्रॉलियों को डिसिन्फेक्ट किया जाएगा।

एयरपोर्ट पर आने वाले बैग्स को अल्ट्रा लो वॉल्यूम स्प्रे ट्रीटमेंट से डिसिन्फेक्ट किया जाएगा हवाई जहाज में भेजने से पहले। एयरपोर्ट ऑथोरिटी ट्रे का इस्तेमाल भी कम करने के बारे में सोच रही है। जो ट्रे इस्तेमाल की जाएगी वह यूवी ट्रीटेड और हर इस्तेमाल के बाद सैनीटाइज की जाएंगी।

अधिकारी सिल्वर नैनो कोट का इस्तेमाल उन स्थानों पर करने की सोच रहे हैं जो बार बार लोगों के सम्पर्क में आती हैं जैसे कि चेक इन काउंटर, इमीग्रेशन काउंटर आदि। अभी ऐसे जगहों पर हर आधे घण्टे में किसी कर्मचारी द्वारा सैनिटाइजेशन का काम किया जाता है।

वाशरूम में भी सैनिटाइजेशन का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। पूरे टर्मिनल में 456 टेबलटॉप सैनिटाइजर और सेंसर वाले सैनिटाइजर इस्तेमाल किया जा रहे हैं।

एयरपोर्ट पर 120 बायोवेस्ट बिन इस्तेमाल किये जा रहे हैं ताकि यात्री अपने ग्लव्स, मास्क, पीपीए किट को इसमे डाल सकें। इनको बाद में अधिकृत वेंडर के पास भेज दिया जाता है जहां से इसे पूरा ध्यान रखते हुए जलाने के लिए भेज दिया जाता है।

यात्रियों में भी इसके प्रति पॉजिटिव रिस्पांस देखने को मिल रहा है। इन नए तरीकों का मुख्य मक़सद फिजिकल कांटेक्ट को कम करना है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: