SHO इंद्रजीत सिंह ने स्थानीय लोगों में बांटी कुरान, कहा ये रूह ए इफ्तारी है

SHO इंद्रजीत सिंह ने भाईचारे की एक मिशाल पेश की है। आज जहां सभी लोग धार्मिक विषयों पर लड़ रहें हैं वहीं भारत के एक प्रांत थाथरी से एकता को मजबूत करने वाली खबर सामने आई है। यहां पे एकता को मजबूत करने और एक उदाहरण बनाने के लिए जिला डोडा के स्टेशन हाउस ऑफिसर ने स्थानीय लोगों में कुरान जैसी पवित्र पुस्तक का वितरण किया। इस आयोजन में इमाम जामिया मस्जिद के मोहम्मद शफाकत कासमी, चेयरमैन एमसी मंसूर अहमद, वाइस चेयरमैन एमसी  असगर खांडे, सरपंच फागसो फारूक अहमद शेख और अन्य वरिष्ठ नागरिक मौजूद थे।

संवाददाता से बात करते हुए, SHO इंद्रजीत सिंह ने कहा, “यह आत्माओं को शुद्ध करने के लिए एक मिशन है। हमारी आत्माएं गंदगी से भरी हुई हैं- कुछ राजनेताओं द्वारा नफरत फैलाई जाती है लेकिन हम कुरान जैसी पवित्र पुस्तक को पढ़कर और समझकर अपनी आत्माओं को शुद्ध करेंगे और निर्देशों का पालन करेंगे।

 

Video Credit :- J&K First News

“रूह ए इफ्तारी आत्माओं को शुद्ध करने की अवधारणा है। जैसा कि हमने सुना है कि इफ्तारी शब्द का उपयोग उपवास तोड़ने के दौरान भोजन खाने के लिए किया जाता है। लेकिन रमजान का वास्तविक अर्थ न केवल खुद को खाने से रोकना है बल्कि इसका वास्तविक अर्थ अपनी आत्मा को शुद्ध करना है। उन्होंने कहा कि कुरान को पढ़ने और समझने से हमारी आत्माओं को शुद्ध किया जा सकता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: