100 ट्रेनों का संचालन रोज़, फँसे हुए मज़दूरो को घर तक पहुंचाने के लिए तथा 15 ट्रेनों को टिकट बुकिंग शुरू

गृह मंत्रालय (एमएचए) और रेल मंत्रालय ने आज ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों द्वारा प्रवासियों को उनके घर तक पहुंचाने पर एक वीडियो कॉन्फ्रेंस आयोजित किया।  बैठक में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (UTs) के नोडल अधिकारियों ने भी भाग लिया। वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान कई मुद्दों पर चर्चा की गई और इस बात पर जोर दिया गया कि प्रवासी श्रम को आश्वस्त किया जाए कि पर्याप्त संख्या में ट्रेनें चलाई जाए। गृह मंत्रालय (MHA) के अनुसार,”  फंसे हुए मज़दूरों को उनके मूल स्थानों तक पहुँचाने में तेजी लाने के लिए अगले कुछ हफ्तों तक सौ से अधिक ट्रेनों के दैनिक रूप से चलने की उम्मीद है।”

अब तक लगभग 450 से अधिक ट्रेनों ने जिनमें से 101 ट्रेनों को रविवार को चलाया गया था द्वारा कई लाख प्रवासी श्रमिकों को पहुंचाने के लिए प्रस्थान किया है।  इन ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों ने प्रवासियों को तिरुचिरापल्ली, टिटलागढ़, बरौनी, खंडवा, जगन्नाथपुर, खुर्दा रोड, प्रयागराज, छपरा, बलिया, गया, पूर्णिया, वाराणसी, दरभंगा, गोरखपुर, लखनऊ, जौनपुर, हटिया, बस्ती, बस्ती,दानापुर, मुजफ्फरपुर, सहरसा आदि जैसे शहरों की ओर पहुँचाया हैं।

बता दें इस बात की घोषणा भारतीय रेलवे रविवार को इस बात की घोषणा कर चुका हैं कि 12 मई से नई दिल्ली से 15 जोड़ी वातानुकूलित ट्रेनें चलायीं जाएंगी। रेलवे अधिकारियों के अनुसार, प्रारंभिक चरण में ये ट्रेनें नई दिल्ली स्टेशन से विशेष ट्रेनों के रूप में इन स्टेशन्स तक चलेंगी  जैसे डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी। इन विशेष ट्रेनों का आरक्षण आज (11 मई) शाम 4 बजे से शुरू हो गया हैं और यात्री आईआरसीटीसी वेबसाइट या मोबाइल एप्लिकेशन से टिकट बुक कर सकते हैं।

 रेलवे स्टेशनों पर टिकट बुकिंग काउंटर बंद रहेंगे तथा इन ट्रेनों में जनरल बोगियां नहीं होंगी।यह सुनिश्चित करने के लिए कि सामाजिक दूरी और अन्य स्वास्थ्य मानदंडों का उचित ढंग से पालन किया जाए, यात्री ट्रेनों में बुकिंग के लिए सभी सीटें उपलब्ध नहीं होंगी।केवल वैध कन्फर्म टिकट वाले यात्रियों को रेलवे स्टेशनों में प्रवेश करने की अनुमति होगी। 

यात्रियों को मास्क पहनकर ही आना होगा और उन्हें प्रवेश, स्टेशन पर निकास बिंदु और कोचों में हैंड सैनिटाइजर दिया जाएगा। सभी यात्री ट्रेन में सवार होने से पहले कोविड-19 का पता लगाने के लिए थर्मल स्क्रीनिंग से गुजरेंगे ,जिसके लिए उन्हें 1 घंटे पहले स्टेशन पर पहुँचना होगा । चेक के बाद केवल जिनमे कोई भी लक्षण नहीं हैं वही यात्री ट्रेन में सवार हो सकते हैं।

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: