सामना में योगी आदित्यनाथ पर सीधा वार

शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने यूपी सरकार को घेरते हुए कहा कि सरकार अपने ही लोगों को राज्य में नहीं आने दे रही है। “यह ठीक वैसा ही रवैया है जैसा जैसा हिटलर ने ज्यूस के साथ दूसरे विश्व युद्ध के दौरान अपनाया था। वाराणसी में प्रधानमंत्री ने दलित परिवार के पैर धोकर जो मानवता का परिचय दिया था वो कहाँ गयी। बीजेपी महाराष्ट्र में उद्धव सरकार पर नाकामयाब होने का आरोप लगाती है मगर असली असफ़लता तो यूपी और गुजरात में दिख रही है।”

राउत ने कहा ‘ राज्य में लोगों को घुसने से रोकना ठीक वैसा ही है जैसे हिटलर ने दूसरे विश्व युद्ध के दौरान यहूदियों की हत्या की थी।’

सामना मुख्यपत्र में ‘बाबा मन की अंकुर खोल’ शीर्षक वाला एक आर्टीकल प्रकाशित हुआ है जिसमे लिखा है “यूपी सरकार द्वारा जो किया जा रहा है वह अमानवीय है। सरकार अपने ही लोगों को राज्य में आने से रोक रही है। वाराणसी में मोदी ने दलितों के पैर धोकर मानवता का परिचय दिया था। अब वह मानवता कहाँ है।”

“महाराष्ट्र में बीजेपी कहती है कि ठाकरे सरकार ठीक से काम नहीं कर रही। जबकि असल में गुजरात और यूपी सरकार असफ़ल रही है” राउत ने बीजेपी को घेरते हुए कहा।

शुक्रवार को बीजेपी ने प्रदेश कार्यालय के बाहर कोरोना वायरस संकट को लेकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान बीजेपी की अगुवाई करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र सरकार से विशेष पैकेज की मांग की। बीजेपी ने मांग की है कि राज्य सरकार द्वारा 50,000 करोड़ के पैकेज की घोषणा की जानी चाहिए।

इससे पहले भी महाराष्ट्र में बीजपी और शिवसेना के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर चलता रहा है। जहां बार बार बीजेपी की तरफ से राज्य सरकार पर कोरोना संकट से सही तरीके से न निपटने का आरोप लगाया जाता रहा है वहीं शिवसेना द्वारा भी बीजेपी पर पलटवार किया जाता रहा है।

महाराष्ट्र सरकार के आदित्य ठाकरे ने लिखा “एक राजनीतिक दल की राज्य यूनिट नया वर्ल्ड रिकॉर्ड स्थापित कर रही है। ये पार्टी नफरत और डर की राजनीति करने में जुटी है।इस समय पर जब सारी दुनिया एक दूसरे की मदद कर रही है वहीं ये पार्टी राजनीति कर रही है। बीजेपी महामारी को भूल चुकी है।”

आदित्य ने बीजेपी पर बिना मास्क के बच्चों को प्रदर्शन में खड़ा करवाने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा ” ये लोग कोरोना भूल चुके हैं, इनको राजनीति प्यारी है।”

Leave a Reply

%d bloggers like this: