देश मे जल्द शुरू हो सकती हैं घरेलू उड़ानें

लॉकडाउन के बीच घरेलू उड़ानों को फिर से शुरू किए जाने के संकेत आ रहे हैं| डी.आई.ए.एल, जो कि दिल्ली एयरपोर्ट को चलाती है, ने कहा है कि हम बहुत ही ज्यादा उपकरणों का उपयोग करने वाले हैं जिसमें विशेष रूप से तैयार की गई पेरा बैंगनी किरणों पर आधारित सुरंग का भी उपयोग किया जाएगा जिसमें बैग और ट्रेनों का कीटाणुशोधन किया जाएगा| एक यात्री ट्रॉली कीटाणुनाशक सिस्टम को भी एयरपोर्ट पर लगाया जाएगा|

डीजीसीए, ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी ऑफिस, एएआई, दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड और सीआईएसएफ की एक संयुक्त टीम ने दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंच कर वहां का निरीक्षण किया| टेक्नोलॉजी पर आधारित सुविधाओं को पहले ही दूसरे देशों से लाए जाने वाले यात्रियों को दिया जा रहा है| डी.आई.ए.एल ने कहा है कि वे अत्याधुनिक सुविधाएं इस्जोतेमाल करेंगे जो कि  ट्रॉली और ट्रेज को पेरा बैंगनी तकनीक से कीटाणुशोधन करेंगी|

यात्री अपने सामान को कीटाणुशोध होते हुए सीसीटीवी की मदद से देख सकेंगे|ऐसी कीटाणुशोधक टेक्नोलॉजी को भी एयरपोर्ट पर लगाया जाएगा जो कि एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाई जा सके| इनकी मदद से एयरपोर्ट का हर कोना – कीटाणुशोध किया जाएगा और जब एक जगह पर इनका काम पूरा हो जाएगा तो कोई व्यक्ति इनको बंद करके दूसरी जगह पर ले जाया करेगा|

इलेक्ट्रॉनिक चीजें जैसे मोबाइल लैपटॉप को भी कीटाणुशोध किया जाएगा, टार्चों की मदद से, जो की सिक्योरिटी चेकिंग एरिया में रखी जाएंगी| एयरपोर्ट पर जूते कीटाणुशोध करने वाले मैट भी लगाए जाएंगे जो कि केमिकल से लैस होंगे| वहां पर कीटाणु मारने वाले पराबैंगनी लाइट के लैंप भी लगाए जाएंगे|

डिसइन्फेक्शन के लिए टॉयलेट में भी सैनिटाइजर की बोतलें रखी जाएंगी| यात्रियों को वॉशरूम में सेंसर से चलने वाले नल और पैरों से चलने वाले डिसइनफेक्टेंट और डिस्पेंसर और पैरों से चलने वाले पीने के पानी के फव्वारे भी मिल सकते हैं|

डी.आई.ए.एल ने कहा है कि उन्होंने 335 ऑटोमेटिक हैंड सैनिटाइजरों को वहां लगाया है जो कि बैटरी या बिजली से चलेंगे |यह एयरपोर्ट पर जगह-जगह पर लगाए जाएंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सभी यात्री अपने हाथ डिसइनफेक्ट कर रहे हैं| डी.आई.ए.एल के वक्ता ने कहा है कि वह 24 घंटे काम कर रहे हैं ताकि यात्रियों की सुरक्षा का पूरा इंतजाम किया जा सके|

हमने सिर्फ राहत फ्लाइटों पर ध्यान ना देकर उन यात्रियों का भी ध्यान रखा है जो कि लॉ डाउन करने के बाद हवाई यात्रा करेंगे| ट्रॉली और बैगेज कैरियर से कोरोना वायरस फैल सकता है इसकी वजह से उनको समय-समय पर डिसइनफेक्ट किया जाएगा| हमने जूते सैनिटाइज करने के लिए एयरपोर्ट पर मैट भी लगाए हैं| यह सभी सुविधाएं जल्द से जल्द एयरपोर्ट पर अलग-अलग जगहों पर लगा दी जाएंगी और इनको जल्द से जल्द शुरू कर दिया जाएगा|

अजय साहनी एंपावर्ड ग्रुप 9 के चेयरमैन ने सोमवार को कहा कि आरोग्य सेतु एप को 9.8 करोड़ स्मार्ट फोन पर डाउनलोड किया जा चुका है| यह कल से जिओ फीचर फोन पर भी उपलब्ध हो जाएगी| हमने इस ऐप का बनाते समय उपभोक्ताओं की निजी जानकारी का अहम ध्यान रखा है ताकि उसको किसी तरह की क्षति ना पहुंचाई जा सके या उसका कोई भी गलत इस्तेमाल ना किया जा सके|

साहनी ने बताया कि 1.4 लाख आरोग्य सेतु एप यूजर्स को अलर्ट किया जा चुका है कि वह शायद किसी कोरोना वायरस के मरीज के संपर्क में आ चुके हैं| इस ऐप की मदद से आप खुद की और अपने परिवार की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकते हैं|

मिनिस्ट्री के अनुसार पिछले 24 घंटे में 4213 केस बढ़ने से इंडिया में सोमवार को कोविड-19 के 67152 केस  हो चुके हैं| इस समय करोना के एक्टिव केसों की गिनती 45069 है जबकि 20916 मरीजों का इलाज किया जा चुका है और वही एक पलायन कर गया है|

Leave a Reply

%d bloggers like this: